बेटियों को लाभान्वित करने में मंडल में चित्रकूट जिला टाप

0
40

बेटियों को लाभान्वित करने में मंडल में चित्रकूट जिला टाप

– बालिकाओं की मददगार बन रही कन्या सुमंगला योजना

चित्रकूट ब्यूरो: तरौन्हा की रहने वाली बुशरा के लिए कन्या सुमंगला योजना आईटीआई की पढाई में मददगार बनी। इससे मिली धनराशि से उन्होंने किताबें खरीदी। यह एक बानगी है, जिले में ऐसी 8,815 बेटियों को लाभ देकर चित्रकूट मंडल में टाप है। बांदा दूसरे स्थान पर है, जबकि महोबा तीसरे और हमीरपुर चैथे पायदान पर हैं।
तरौन्हा की रहने वाली 19 वषीर्य बुशरा ने बताया कि कन्या सुमंगला योजना महिलाओं के लिए अच्छी है। वह राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान शिवरामपुर से आईटीआई कर रहीं हैं। उन्हें इस योजना से काफी मदद मिली। इससे मिली धनराशी से आईटीआई की किताबें खरीदी। योजना की वजह से किताबों के लिए घर से रूपए नहीं लेने पड़े। जिला प्रोबेशन अधिकारी रामबाबू विश्वकमार् ने बताया कि अब तक 8,815 बालिकायों को कन्या सुमंगला योजना से आथिर्क लाभ दिया जा चुका है। उन्होंने बताया कि मंडल में चित्रकूट सबसे अधिक लाभ देने वाला जिला बन गया। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी शुभ्रांत कुमार शुक्ल के निदेर्शन में अन्य विभागों के साथ बेहतर तालमेल से काम किया जा रहा है। प्रयास है कि पात्र अधिक से अधिक बालिकाओं को इस योजना से लाभान्वित किया जा सके। उन्होंने बताया कि छह चरणों में कुल 15,000 रुपए इस योजना के तहत पात्र बालिकायों को उनके या अभिभावकों के बैंक खाते के माध्यम से देने का प्रावधान है।
—–छह चरणों में मिलता है योजना का लाभ—-
जिला प्रोबेशन अधिकारी ने बताया कि इस योजना के तहत बच्ची के जन्म लेने पर 2000 रुपए, जन्म के एक साल बाद संपूणर् टीकाकरण होने पर 1000 रूपए, कक्षा एक में प्रवेश पर तीसरी किस्त के रूप में रुपए 2000, कक्षा 6 में प्रवेश पर रुपए 2000, नौवीं कक्षा में प्रवेश पर रुपए 3000 और उच्च शिक्षा में प्रवेश लेने पर रुपए 5000 दिए जाते हैं। यह रकम अभिभावक द्वारा उपलब्ध कराए गए बैंक खाते में भेजी जाती है।
—-तीन लाख से अधिक न हो वाषिर्क आय—-
इस योजना का लाभ पाने के लिए बच्ची के अभिभावक की वाषिर्क आय तीन लाख रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए। इस आय सीमा के भीतर वाले अभिभावकों की ही बालिकाओं को कन्या सुमंगला योजना का लाभ दिए जाने का प्रावधान है।
—-आकड़ों पर एक नजर—-
जिला प्रोबेशन अधिकारी ने बताया कि चित्रकूट में 8815, बांदा में 7105, महोबा में 6616  हमीरपुर में 6111 बालिकाओं को योजना से आथिर्क लाभ दिया जा चुका है।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक