शासन के निर्देशानुसार तथा जिलाधिकारी चाँदनी सिंह के निर्देश पर

0
37

 

शासन के निर्देशानुसार तथा जिलाधिकारी चाँदनी सिंह के निर्देश पर

महिला कल्याण विभाग द्वारा जिला महिला चिकित्सालयउरई में 18 नवजात कन्याओं का मनाया गया धूमधाम से कन्या जन्मोत्सव।

उरई (जालौन) नवजात कन्याओं के माता-पिता को बेबी किट तथा बधाई पत्र देते हुए मुख्य विकास अधिकारी भीम जी उपाध्याय ने कहा की बेटियों के जन्म पर अब हर्ष मनाने की आवश्यकता है बेटियां किसी से कमतर नहीं है तथा अब बेटियां हर क्षेत्र में नित नये किर्तिमान स्थापित कर रही हैं इसलिए बेटियों के जन्म को हर्ष के रूप में मनाये तथा समाज को सुसंस्कृत कीजिए। बेटियां दो कुल को उज्जवल करती हैं सुसंस्कृत करती हैं तथा समाज और देश को एकीकृत करने में तथा उत्थान में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका है।
प्रत्येक माह के पहले और तीसरे सोमवार को महिला कल्याण विभाग द्वारा नवजात कन्याओं के जन्म पर मनाया जाने वाला यह कन्या जन्मोत्सव बालिकाओं के जन्म के प्रति समाज का सकारात्मक दृष्टिकोण बनाने में अपनी महत्ती भूमिका का निर्वहण कर रही है तथा बेटियों के प्रति समाज सकारात्मक रूप से सोच रहा है तथा बेटियों को परिवार में व समाज में हर जगह सम्मान की दृष्टि से देखा जा रहा है। आज शिक्षा, चिकित्सा, स्वास्थ्य ,खेल यहां तक की अंतरिक्ष के क्षेत्र में भी बेटियों की भूमिका को बड़ी सहजता से देखा जा सकता है। जहां बेटियां एक ओर परिवार को जोड़ने का काम करती है वहीं समाज के भविष्य बच्चों को सवांरने मे इनकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। आज के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर अविनाश बनौधा ने कहा की बेटियों के जन्म के प्रति सकारात्मक दृष्टि रखें तथा महिलाओं का संस्थागत प्रसव पर जोड़ दें ताकि जच्चा और बच्चा दोनों सुरक्षित होते हुए परिवार व देश के उत्थान में महत्ती भूमिका अदा कर सके । कार्यक्रम के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए जिला प्रोबेशन अधिकारी डॉक्टर अमरेंद्र कुमार पौत्स्यायन ने बताया की कन्या जन्मोत्सव से समाज में बेटियों के प्रति एक सकारात्मक भाव विकसित हो रहा है तथा बेटियां अब स्वावलंबन की ओर सतत अग्रसर है जिसकी सराहना हर परिवार और समाज मुक्त कंठ से कर रहा है ।परिवार के उत्थान में बेटियों की महत्ती भूमिका है ।
आज के कार्यक्रम में 18 नवजात कन्याओं के माता-पिता को मुख्य विकास अधिकारी भीम जी उपाध्याय के हाथों बेबी किट ,प्रशस्ति पत्र तथा केक का वितरण किया गया। आज के कार्यक्रम में जिन दम्पतियों को मुख्य विकास अधिकारी के हाथों सम्मानित किया गया उसमें सुरेखा पत्नी राजकुमार मुसमरिया ,गुड़िया पत्नी सुनील करुई बुजुर्ग ,मोनिका पत्नी योगेंद्र नयामतपुर, पिंकी पत्नी रामबहादुर साहू चंद्र नगर उरई ,फरीन पत्नी मोहम्मद ईशान कोच रामनगर, झलक पत्नी पंकज राहिया ,महिमा पत्नी पंकज जालौन, रागिनी पत्नी पुष्पेंद्र राहिया, संगीता पत्नी शिव नरेश रुरा अड्डू, ज्योति पत्नी अनिल राजेंद्र नगर उरई ,दामिनी पत्नी सत्यम कुदारी माधोगढ़ ,उमा पत्नी राजकुमार भदरेखी, कांती पत्नी चंद्रभूषण बरहार ,रामदेवी पत्नी वीर सिंह परासन ,कल्पना पत्नी वीरपाल कुरैना, सोनम पत्नी दीपेंद्र माधोगढ़, शाहीन पत्नी रिजवान रामकुंड ,पूजा पत्नी भूरे लहरियापुरवा को प्रशस्ति पत्र, बेबी कीट तथा मिठाइयां देकर सम्मानित किया गया ।
आज के कार्यक्रम में महिला चिकित्सा अधीक्षक डॉ सुनीता बनौधा, जिला चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर अविनाश बनौधा, बाल कल्याण समिति की सदस्या गरिमा पाठक तथा महिला कल्याण विभाग की ओर से रागनी ,प्रवीणा, रिचा, रचना, सुरेश ,अर्चना ,जितेंद्र आदि ने प्रतिभाग किया।