चेयरमैन ने फीता काटकर की सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आयुष्मान भवः की शुरुवात।।

चेयरमैन ने फीता काटकर की सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आयुष्मान भवः की शुरुवात।।

संवाददाता अंजनी कुमार के साथ सौरभ कुमार की रिपोर्ट

रामपुरा:रविवार को पीएम मोदी के जन्मदिन के मौके पर देशभर में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।इस मौके पर सरकार देश के लोगों को स्वास्थ सेवाओं का तोहफा दे रही है। 17 सितंबर यानी आज से आयुष्मान भव: कैंपेन की शुरुआत हो रही है। इस कैंपेन के तहत आम लोगों को स्वास्थ्य समस्याओं के प्रति जागरुक किया जा रहा है और सरकारी योजनाओं के बारे में बताया जा रहा है। इस कैंपेन की मदद से 35 करोड़ लोगों तक लाभ पहुंचाने की कोशिश होगी।प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन के शुभ अवसर पर आयुष्मान भव: कैंपेन की शुरुवात नगर में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामपुरा पर नगर पंचायत अध्यक्ष गायत्री वर्मा द्वारा फीता काटकर की गई एवम अस्पताल में गर्भवती महिलाओ को फल एवम नवजात शिशुओं को कपड़े वितरण किए।आयुष्मान लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड वितरण करते हुए बताया प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन को खास बनाने के लिए 17 सितंबर से आयुष्मान भव: कार्यक्रम की शुरुआत हो रही है। लोगों को 5 लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा उनके आयुष्मान कार्ड के जरिए मिली है। आयुष्मान भारत योजना स्कीम के तहत लोगों को 5 लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा मिलती है। आयुष्मान भव कैपेंस के तहत सरकार की इन स्वास्थ्य सेवाओं को प्रमोट किया जाएगा।अधिक से अधिक लोगों को आयुष्मान योजना को पहुंचाने की कोशिश की जाएगी।

*आयुष्मान भव अभियान का लाभ*
इस आयुष्मान भव अभियान का मकसद सिर्फ आयुष्मान भारत योजना को लोगों तक पहुंचाना नहीं है, बल्कि सरकार की सभी स्वास्थ्य योजनाओं की जानकारी लोगों को पहुंचाना है। इसके लिए आयुष्मान मेले, आयुष्मान कार्ड बांटने की प्रक्रिया में तेजी और आयुष्मान सभाएं जैसी कैटेगरी तय की गई हैं। इस कैपेन के जरिए लोगों तक आयुष्मान कार्ड बनवाने से लेकर उनतक स्वास्थ्य स्कीम का लाभ पहुंचाने की कोशिश की जाएगी। आयुष्मान ऐप के जरिए भी कार्ड हासिल किया जा सकता है। हेल्थ मेला, आयुष्मान कार्ड तथा आयुष्मान सभा पर काम किया जा रहा है।
उक्त मौके पर डा प्रदीप सिंह राजपूत,जसवीर ,देवेंद्र कुमार फार्मासिस्ट,सुधीर कुमार गुप्ता,आयुष्मान मित्र मोहित तिवारी ,स्टाफ नर्स आशा सहित अस्पताल का समय स्टाफ मौजूद रहा।