मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का किया गया आयोजन

0
  • 6621 मरीजों का किया गया परीक्षण, परामर्श, दवा वितरण, जाँच तथा संदर्भन
  • आयोजित मेले में आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत 551 पात्र लाभार्थिंयों को गोल्डन कार्ड का किया गया वितरण
  • स्वास्थ्य मेले में आये हुए 1044 व्यक्तियों का किया गया कोरोना का ऐण्टीजन टेस्ट
  • प्रत्येक रविवार को मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला का किया जायेगा आयोजन

प्रयागराज:- मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया है कि आज दिनांक 10.01.2020 को मुख्यमंत्री उ0प्र0 के निर्देश पर कुल 22 नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं 61 ग्रामीण प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला का पुनः आरम्भ किया गया, जिसमें 191 चिकित्सक तथा 832 पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा कुल 6621 मरीजों का परीक्षण, परामर्श, दवा वितरण, जाँच तथा संदर्भन किया गया।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान की जानकारी तथा आयुष्मान भारत योजना के पात्र लाभार्थियों को कुल 551 गोल्डन कार्ड का वितरण किया गया। गर्भावस्था एवं प्रसव कालीन परामर्श तथा सेवायें दी गयी। संस्थागत प्रसव सम्बन्धी जागरुकता, जन्म पंजीकरण, नवजात एवं शिशु स्वास्थ्य सुरक्षा, पूर्ण टीकाकरण परामर्श, परिवार नियोजन सम्बन्धी परामर्श, बच्चों में डायरिया एवं निमोनिया के रोकथाम, बचाव एवं उपचार की जानकारी तथा सुविधायें दी गयी।

तम्बाकू सेवन को रोकने के लिये जागरुकता, तम्बाकू छोड़ने में सहायता के उपाय बताये गये। कुल 114 मरीजों का उच्च स्तरीय इकाईयों पर संदर्भन किया गया। मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला का आयोजन आगामी प्रत्येक रविवार को आयोजित किया जायेगा।

मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला में आये हुये 1044 व्यक्तियों का कोरोना का ऐण्टीजन टेस्ट किया गया, जिसमें कोई भी व्यक्ति पॉजीटिव नहीं पाया गया। कोविड हेल्प डेस्क के द्वारा सभी व्यक्तियों को कोरोना से बचाव के उपाय जैसे हाथ धोना, मास्क का प्रयोग, सेनीटाइजर का इस्तेमाल करने तथा दो गज की दूरी के पालन के सम्बन्ध में जागरूक किया गया।

अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण प्रयागराज मण्डल प्रयागराज डॉ० मोहन जी श्रीवास्तव ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र-जगतपुर पर आयोजित मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का निरीक्षण किया तथा मेले में उपस्थित चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ को अच्छी स्वास्थ्य सुविधायें देने तथा मेले का वृहद प्रचार-प्रसार करने का निर्देश दिया। इसके अतिरिक्त जनपद तथा ब्लॉक स्तर के अधिकारियों ने भी स्वास्थ्य मेले के सुचारु संचालन हेतु निरीक्षण/भ्रमण किया।