यमुना नदी का जलस्तर घटा, ग्रामीणों ने ली राहत की सांस

यमुना नदी का जलस्तर घटा, ग्रामीणों ने ली राहत की सांस


कालपी(जालौन)। अत्यधिक वर्षा होने के कारण लगातार यमुना नदी का जलस्तर बढ़ने से ग्रामीणों में बेचैनी बनी हुई थी। लेकिन मंगलवार को यमुना नदी का जलस्तर घटने से ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है।

विगत दिनों ऊपरी क्षेत्र में अत्यधिक वर्षा होने के कारण चंबल नदी का जलस्तर पर वृद्धि हुई थी। जिसके बाद से यमुना नदी के जलस्तर में एकाएक वृद्धि होने लगी थी। रविवार को यमुना नदी का जलस्तर 112.38 पर स्थिर रहा जो सोमवार को बढ़कर 112.78 मीटर तक पहुँच गया। जिसके बाद मंगलवार को यमुना नदी का जलस्तर घटकर 111.31 मीटर दर्ज किया गया था। केंद्रीय जल आयोग के रूपेश कुमार ने बताया कि यमुना नदी का जलस्तर में गिरावट दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि यमुना का जलस्तर 15 से 20 सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से घट रहा है। यमुना का जलस्तर घटने के बाद नगरवासियों तथा यमुना पट्टी किनारे बसे ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है।

इनसेट

महामारी फैलने का खतरा बढा

बाढ़ का पानी जैसे जैसे नीचे उतरता जा रहा है वैसे ही नदी तट के गांव में उतनी ही गति से संक्रामक बीमारियों का खतरा बढ़ता जायेगा। नदी तट के ग्रामीणों में फैलने वाली बीमारियों के रोकथाम हेतु प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग को अभी से रणनीति बना कर ग्रामीणों के स्वास्थ्य व जीवन की रक्षा के कारगर उपाय करना होंगे।