चुनाव बाद कार्यकर्ताओं को पानी को भी नहीं पूछ रहे हैं प्रत्याशी

0
43

चुनाव बाद कार्यकर्ताओं को पानी को भी नहीं पूछ रहे हैं प्रत्याशी

उरई/जालौन। विधानसभा चुनाव में अधिकांश प्रत्याशियों द्वारा अपने-अपने कार्यकर्ताओं के खाने व जेब खर्चा की सुविधा मुहैया कराई गई थी। परन्तु चुनाव समाप्त हो जाने के पश्चात अब यह कार्यकर्ता पूरी तरह से उपेक्षित हो गये है। चुनाव के दौरान कार्यकर्ताओं को सिर माथे पर बैठाने वाले प्रत्याशी अब उनसे मिलना भी पसन्द नही कर रहे है। अब तो उन्हें कोई पानी की भी नही पूछता है। इसी सोच के चलते अब कार्यकर्ताओं का पार्टियों से मोह भंग होता जा रहा है। नगर के विभिन्न पार्टियों के कार्यकर्ताओं, हिन्दू, मुस्लिम वरिष्ठ व्यापारी नेता, शिक्षक सहित कई कार्यकर्ताओं ने अपना नाम न छापने का अनुरोध करते हुए बताया कि चुनाव के दौरान हमारे प्रत्याशी हम लोगो को भगवान का दर्जा देते थे। हम लोगों ने अपनी पार्टी के लिये रात दिन पसीना बहाया। परन्तु चुनाव के पश्चात अब प्रत्याशी हम लोगों से मुंह फेर रहे है। जैसे हम लोग उनके लिये बेगाने हो गये हो। वही तमाम मजदूर भी बेरोजगार हो गये क्योकि चुनाव के दौरान प्रत्याशियों द्वारा मजदूरी करने वाले कुछ मजदूरों को नेताओं ने कार्यकर्ता की बतौर चुनाव में लगाया था। उन्हें भोजन भी उपलब्ध होता था और मजदूरी भी दी जाती थी। लेकिन चुनाव के पश्चात अब यह मजदूर पुनः मजदूरी करने के लिये जुट गये है।.

#चित्रकूट #जालौन #आन्या_एक्सप्रेस #बुन्देलखण्ड_दस्तक #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर