संस्कारों की श्रृंखला और नींव कभी समाप्त नहीं होती- डॉ. वाजपेयी

0
44

संस्कारों की श्रृंखला और नींव कभी समाप्त नहीं होती- डॉ. वाजपेयी

– आयुष ग्राम ट्रस्ट में संस्कारशाला का हुआ समापन

चित्रकूट ब्यूरो: आयुष ग्राम ट्रस्ट के संस्थापक एवं भारतीय चिकित्सा परिषद के पूवर् उपाध्यक्ष आचायर् डॉ मदन गोपाल वाजपेयी के प्रेरणा एवं मागर्दशर्न में आयुष ग्राम उच्चतर माध्यमिक संस्कृत विज्ञान गुरुकुलम में एक माह से चल रही संस्कारशाला का सोमवार को समापन हुआ। कायर्क्रम का शुभारंभ वेदाचायर् सचिन भानु गगर् द्वारा वैदिक मंगलाचरण से किया गया।
मुख्य अतिथि मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. भूपेश द्विवेदी ने कहा कि संस्कारशाला का आयोजन एक अद्भुत विचार है। इससे बच्चों को देश की प्राचीन संस्कृति से अवगत कराया जाता है। प्रधानाचायर् गिरीश चंद्र बहुगुणा ने संस्कारशाला का उद्देश्य बताया। डॉ. सवर्ज्ञ भूषण ने संस्कारशाला की उपयोगिता एवं महत्व पर प्रकाश डाला। कहा कि इस व्यस्त जीवन में बच्चों को संस्कार एवं वैदिक परंपराओं का ज्ञान परिवार से मिलना चाहिए। बच्चे विद्यालयों में केवल परीक्षा की दृष्टि से उपयोगी विषय ही पढ़ पाते हैं और धीरे धीरे अपनी परंपराओं से दूर हो जाते हैं। इसलिए परंपराओं के पोषण के लिए संस्कारशालाओं का आयोजन समय की आवश्यकता है। पूवर् प्रधानाचायर् चंद्रदत्त त्रिपाठी ने कहा कि कोई भी शिक्षा तब तक फलीभूत नहीं होती जबतक वह उत्तम संस्कारों से युक्त न हो। आचायर् माताप्रसाद शुक्ल ने बताया कि गुरुकुलों में प्राचीन काल में संस्कारशालाओं के आयोजन की एक समृद्ध परंपरा रही है। अध्यक्षीय उद्बोधन में आयुष ग्राम ट्रस्ट के संस्थापक डॉ. मदन गोपाल वाजपेयी ने कहा कि संस्कारों की श्रृंखला और नींव कभी समाप्त नहीं होती। व्यक्ति को संस्कार जहां से मिलें, ग्रहण करने के लिए अपनी दृष्टि सदैव खुली रखनी चाहिए। इस अवसर पर, डॉ. वेदप्रताप वाजपेयी, आलोक कुमार,  सीमा आदि आचायर्,  विद्याथीर् आदि मौजूद रहे।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक
#जिलाधिकारीजालौन #जिलाअधिकारीचित्रकूट
#dmjalaun #dmchitrkut