मिट्टी के बर्तन एवं कागज व कपड़े के थैले का उपयोग करें, प्लास्टिक को मुक्त करें ,डॉ हीरालाल

मिट्टी के बर्तन एवं कागज व कपड़े के थैले का उपयोग करें, प्लास्टिक को मुक्त करें ,डॉ हीरालाल

हम बदलेंगे,समाज बदलेगा का लिया संकल्प।

उरई (जालौन ) रानी लक्ष्मीबाई सभागार विकास भवन उरई जनपद जालौन में डा० हीरालाल विशेष सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन अध्यक्ष एवं प्रशासक, ग्रेटर शारदा सहायक समादेश क्षेत्र विकास प्राधिकारी,परियोजना लखनऊ, की अध्यक्षता में बैठक की गयी। जिसमें ज्ञान प्रकाश यादव, भूमि संरक्षण अधिकारी एवं झांसी मण्डल के विभागीय कर्मचारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। बैठक में डा० हीरालाल विशेष सचिव द्वारा निर्देश दिये गये कि कार्यालय में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाय। कार्यालय में कार्यरत समस्त कर्मचारियों को सेवा लाभो का ससमय प्रदान किया जाये व कार्यालय में कार्यरत कार्मिकों के सेवा अभिलेखों को अघतन रखा जाये। सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों के समस्त देयकों का भुगतान अधिवर्षता आयु पूर्ण होते-होते कर ली जाय एवं अभिलेखों का रखरखाव सहीं ढंग से किया जाये, व 15 वर्ष से अधिक के वाहनों की नीलामी की कार्यवाही शासनादेश के निहित प्राविधानों के अन्तर्गत करना सुनिश्चित करें। कार्यालय को प्लास्टिक मुक्त बनायें व कुल्हड़ में चाय का सेवन करें एवं पारम्परिक तरीके से बने मिट्टी के बर्तन व कागज, कपडे के थैलों आदि का इस्तेमाल किया जाये। माइकोएरीगेशन व स्प्रींकल सिंचाई का प्रचार किसानों में करें तथा उससे होने वाले लाभों के बारे में किसानों को बताये कि कम पानी में अधिक सिचाई, अधिक फसल, अधिक कमाई की जा सकती है। सभी अधिकारी,कर्मचारी अपने घरों में अधिक आक्सीजन उत्सर्जित करनें वालें पौधों का वृक्षारोपण करें । स्कूलों के माध्यम से जलवायु परिवर्तन को कैसे रोका जा सकता है का अध्य्यन कर जलवायु परिवर्तन को रोकने में स्कूलों की भूमिका के बारे में स्कूलो को जागरूक करना सुनिश्चित करें। वर्षा को संरक्षित करने हेतु अपने घर एवं कार्यालय में वर्षा जल को संरक्षित करने का समुचित उपाय करें। जिससे जल स्तर को बढाया जा सके। इसके साथ ही सभी अधिकारियों,कर्मचारियों को टंकण व कम्प्यूटर संचालन का ज्ञान अर्जित करना अनिवार्य है,निर्देश देते हुये बैठक का समापन डा० हीरा लाल(विशेष सचिव) द्वारा किया गया।