36 घंटे के अंदर पुलिस ने बरामद कर दिखाया पत्रकार पुत्र को

उरई (जालौन)जिले के पत्रकार प्रदीप त्रिपाठी का 16 वर्षीय पुत्र सक्षम त्रिपाठी घर से नाराज होकर चला गया था। दोपहर तक जब वह घर नहीं लौटा तो उनसे परिजनों व पत्रकारों ने उसे ढूंढना शुरू किया। साथ ही मामले की सूचना पुलिस को दी। सभी अपने अपने स्तर से सक्षम की खोजबीन में जुटे थे। मामले को गम्भीरता से संज्ञान में लेते हुए उरई कोतवाली पुलिस ने सभी पुलिस कर्मियों को एलर्ट कर दिया। इसकी बानगी देर रात खोजबीन कर रहे पत्रकारों ने कोबरा सिपाहियों की मुश्तैदी से देखी। वह भी सक्षम की खोजबीन में जुटे हुए थे। उरई कोतवाली प्रभारी जेपी पाल के निर्देश पर मंडी चौकी इंचार्ज रामवीर व उप निरीक्षक मोहित यादव ने सक्षम के सभी मित्रों के घर जाकर उनसे पूंछतांछ शुरू की। दूसरे दिन जब सक्षम के गाजियाबाद में होने की खबर लगी तो मंडी चौकी इंचार्ज रामवीर सिंह सक्षम के पिता व पत्रकारों को साथ लेकर गाजियाबाद की ओर रवाना हो गए। तभी पता चला कि वह उरई आ चुका है। इसके बाद चौकी प्रभारी रामवीर व मोहित यादव ने उसकी खोजबीन करते हुए उसे राठ रोड से बरामद कर लिया। पूरे मामले में पुलिस ने जो सक्रियता दिखाई वह वाकई काबिले तारीफ है।