रुपौली पीएचसी पर भी अब मिलेगी प्रसव की सुविधा

0

चित्रकूट- प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रुपौली में प्रसव केंद्र का शुभारंभ मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार यादव ने शनिवार को किया। अब यहां पर प्रसव की सुविधा मिल सकेगी अब इस क्षेत्र के कई गांव की प्रसूताओं को समान प्रसव के लिए किसी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र या जिला अस्पताल नहीं जाना पड़ेगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार ने बताया कि स्वास्थ्य सुविधाओं का लगातार विस्तार किया जा रहा है सरकार की मंशा है कि गांव-गांव तक स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाई जाए इसी क्रम में रुपौली में प्रसव केंद्र का शुभारंभ हुआ अब तक इस क्षेत्र की प्रसूताओं को प्रसव के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राजापुर या रामनगर जाना पड़ता था प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रुपौली में प्रसव की सुविधा उपलब्ध होने से आसपास के गांव की पप्रसूताओं को राजापुर और रामनगर या जिला अस्पताल तक की दूरी नहीं तय करनी पड़ेगी उन्होंने बताया कि रुपौली में प्रसव की सुविधा उपलब्ध हो जाने से निश्चित तौर पर संस्थागत प्रसव में वृद्धि होगी।

जिला कार्यक्रम प्रबंधक आरके करवरिया ने बताया कि इसके पहले शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सहित आठ पीएचसी में ही प्रसव की सुविधा मिल रही थी रुपौली को मिलाकर अब नौ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ऐसे हो गए हैं जहां पर प्रसव की सुविधा उपलब्ध है।

इसमे अर्बन पीएचसी कर्वी ,पीएचसी सीतापुर, भौरी, सरैया ,टिकरा, छिबो,सरधुवा और मारकुंडी शामिल है । इसके अतिरिक्त सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राजापुर,पहाड़ी,रामनगर,मऊ ,मानिकपुर,शिवरामपुर व जिला अस्पताल में यह सुविधा पहले से ही मिल रही है पिरामल फाउंडेशन के डिस्ट्रिक्ट ट्रांसफॉर्मेशन मैंनेजर कमल भट्टाचार्य ने बताया कि नीति आयोग की गाइडलाइन के मुताबिक घर पर होने वाले प्रसव को बिल्कुल समाप्त करने की दिशा में स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से काम किया जा रहा है।

रुपौली मे डिलीवरी प्वाइंट होने से संस्थागत प्रसव की संख्या बढ़ेगी । इस मौके पर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी रामनगर डॉक्टर राजेश भारतीय,पीएचसी रुपौली प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर सौरव यादव, बिटीओ हेमंत वर्मा,बीपीएम चंद्रप्रकाश,कमलेश कुमारी,शरला वर्मा, नीलम,सोनिया आदि मौजूद रहे।