0
55

पेयजल समस्या से परेशान है पाठा के ग्रामीण

चित्रकूट ब्यूरो: मानिकपुर के पाठा क्षेत्र में पानी की किल्लत गांवों के बाशिंदों को परेशान कर रही है। जिलाधिकारी की तमाम हिदायतों के बाद भी कुछ जगहों पर प्रधान और सचिव लापरवाह बने हैं और इससे गांववालों की दिक्कत बढ़ी है।
गमीर् आते ही पाठा में पानी की किल्लत गांववालों की सबसे बड़ी समस्या बन जाती है। गांवों में एक-एक बूंद को सहेजने की जुगत शुरू हो जाती है। लोग कई कई किमी दूर से पानी लाने की कवायद में जुट जाते हैं। पानी को लेकर ग्राम प्रधानों और सचिवों का उपेक्षापूणर् रवैया भी दिक्कत को बढ़ाता है। यही हाल मानिकपुर ब्लाक की ग्राम पंचायत कैलहा के मजरा कोलान का है। यहां के बाशिंदों ने बताया कि तीस परिवारों के बीच एक हैंडपंप लगा है। यह भी कई साल से खराब पड़ा है। गांववालों ने बताया कि लोग बोर का पानी पीने को मजबूर हैं। कुछ ने तो यह भी बताया कि वे लोग चारपाई पर बैठकर नहाते हैं और नीचे जो पानी गिरता है, उसे एक बतर्न में इकट्ठाकर उसी से कपड़े धोते हैं। गांववालों का कहना है कि इस संबंध में खंड विकास अधिकारी ने बताया कि कैलहा ग्राम पंचायत में 19 हैंडपंप लगाए गए हैं, जिनमें चार खराब हैं। गांववालों ने कायर्दायी संस्था के जिम्मेदारों से पेयजल समस्या का समाधान करने का अनुरोध किया है।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक