पेयजल की किल्लत को लेकर पाठा क्षेत्र के ग्रामीणों ने किया प्रदशर्न

0
45

पेयजल की किल्लत को लेकर पाठा क्षेत्र के ग्रामीणों ने किया प्रदशर्न

– जिलाधिकारी ने समस्या के निदान को किया आश्वस्त

चित्रकूट ब्यूरो: गमीर् में सुदूर गांवों में पानी की किल्लत बढ़ती जा रही है। सबसे बुरी हालत पाठा क्षेत्र के गांवों की है। सोमवार को मानिकपुर ग्राम पंचायत के कैलहा गांव के बाशिंदों ने मुख्यालय में प्रदशर्न किया और ज्ञापन देकर पानी की समस्या से निजात दिलाने की गुहार की। जिलाधिकारी ने आश्वस्त किया कि उनकी परेशानी को दूर करने का हर संभव प्रयास किया जाएगा।
कैलहा गांव के लोगों ने सोमवार को जिला पंचायत सदस्य मीरा भारती की अगुवाई में कलेक्ट्रेट में प्रदशर्न किया। इनका कहना था कि गांव में पानी की भीषण समस्या है। मीरा ने बताया कि कैलहा की आदिवासी बस्ती के लोगों को तो एक किलोमीटर दूर से पानी लाना पड़ता है। लंबा समय बीता पर अभी तक लोगों की इस समस्या का समाधान नहीं किया गया। बताया कि बस्ती में एक भी हैंडपंप नहीं है। जिला पंचायत सदस्य ने आरोप लगाया कि इसके बाद भी गांव में 19 हैंडपंप होने की बात कही गई है। 15 हैंडपंप चालू होने का दावा भी किया गया है। मीरा का यह भी कहना था कि सरकार द्वारा पानी को लेकर फंड दिए जाने के बाद इसका कोई पता नहीं चल रहा है। जिला पंचायत सदस्य और ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर इसकी जांच कराने और पेयजल समस्या का निदान करने की मांग की है। इस मौके पर रानी, दुवसिया, हिरनिया, मुन्नी, बुधिया, सालिकराम, महावीर, मइयादीन, नीतू, छोटेलाल, नथिया, अयूब अली, राजकुमार आदि मौजूद रहे। जिलाधिकारी ने ग्रामीणों को बताया कि गांवों में पेयजल उपलब्धता के लिए कायर्योजना बनाई गई है। इनमें टैंकरों के माध्यम से कई-कई बार पानी भेजा जा रहा है। उन्होंने बताया कि कैलहा गांव की समस्या के लिए अफसरों को मौके पर जाकर मुआयना करने और निदान करने के निदेर्श दे दिए हैं।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक