जहां इष्ट व गुरु का अपमान हो, ऐसी जगह नहीं जाना चाहिए- नवलेश दीक्षित

0
59

जहां इष्ट व गुरु का अपमान हो, ऐसी जगह नहीं जाना चाहिए- नवलेश दीक्षित

– सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का तीसरा दिन

चित्रकूट ब्यूरो: सदर तहसील क्षेत्र अंतगर्त बिहारा गांव में आयोजित सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा के तीसरे दिन बुधवार को कथा वाचक आचायर् नवलेश दीक्षित महाराज ने बताया कि किसी भी स्थान पर बिना निमंत्रण जाने से पहले इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि वहां आपका, आपके इष्ट या गुरु का अपमान न हो तथा यदि ऐसा होने की आशंका हो तो उस स्थान पर जाना नहीं चाहिए। चाहे वह स्थान अपने जन्मदाता पिता का ही घर हो। कथा के दौरान सती चरित्र के प्रसंग को सुनाते हुए भगवान शिव की बात को नहीं मानने पर सती को अपने पिता के घर जाने से अपमानित होने के कारण स्वयं को अग्नि में स्वाह होना पड़ा।
कथा में उत्तानपाद के वंश में धु्रव चरित्र की कथा सुनाते हुए समझाया कि ध्रुव की सौतेली मां सुरुचि के द्वारा अपमानित होने पर भी उसकी मां सुनीति ने धैयर् नहीं खोया, जिससे एक बहुत बड़ा संकट टल गया। परिवार को बचाए रखने के लिए धैयर् संयम की नितांत आवश्यकता रहती है। भक्त धु्रव द्वारा तपस्या कर श्रीहरि को प्रसन्न करने की कथा को सुनाते हुए बताया कि भक्ति के लिए कोई उम्र बाधा नहीं है। भक्ति को बचपन में ही करने की प्रेरणा देनी चाहिए क्योंकि बचपन कच्चे मिट्टी की तरह होता है तथा उससे जैसा चाहे वैसा पात्र बनाया जा सकता है। कथा के दौरान उन्होंने बताया कि पाप के बाद कोई व्यक्ति नरकगामी हो, इसके लिए श्रीमद्भागवत में श्रेष्ठ उपाय प्रायश्चित बताया गया है। साथ ही प्रह्लाद चरित्र के बारे में विस्तार से सुनाया और बताया कि भगवान नृसिंह रुप में लोहे के खंभे को फाड़कर प्रगट होना बताता है कि प्रह्लाद को विश्वास था कि मेरे भगवान इस लोहे के खंभे में भी है और उस विश्वास को पूणर् करने के लिए भगवान उसी में से प्रकट हुए एवं हिरण्यकश्यप का वध कर प्रह्लाद के प्राणों की रक्षा की। यह कथा स्वगीर्य शांति देवी की स्मृति में हो रही है। इस कथा के आयोजक राम स्वयंवर मिश्रा है। श्रीमद् भागवत कथा सुनने के लिए चित्रकूट के संत महंत सहित आसपास के ग्रामीण एकत्रित हुए हैं।
इस मौके पर रामनरेश मिश्रा, बाबूलाल मिश्रा, रमाकांत मिश्रा, श्यामलाल द्विवेदी, भोले राम शुक्ला, रजनीश तिवारी, उदय भान द्विवेदी, मुन्ना त्रिपाठी, सूयर्पाल शुक्ला आदि मौजूद रहे।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक