कलयुग में हरि नाम से ही हो जाता है जीव का कल्याण- नवलेश दीक्षित

0
53

कलयुग में हरि नाम से ही हो जाता है जीव का कल्याण- नवलेश दीक्षित

– सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का पांचवा दिन

चित्रकूट बयूरो: सदर तहसील क्षेत्र की बिहारा ग्राम पंचायत में चल रही सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा के पांचवें दिन शुक्रवार को कथा व्यास आचायर् नवलेश दीक्षित ने भगवान श्रीकृष्ण की विभिन्न बाल लीलाओं और रासलीला का भावपूणर् वणर्न किया।
कथा व्यास ने भगवान श्रीकृष्ण की जन्म कथा को आगे बढ़ाते हुए पूतना वध, यशोदा मां के साथ बालपन की शरारतें, भगवान श्रीकृष्ण का गो प्रेम, कालिया नाग मान मदर्न, माखन चोरी गोपियों का प्रसंग सहित अन्य कई प्रसंगों वणर्न किया। कंस का आमंत्रण मिलने के बाद भगवान श्रीकृष्ण बड़े भाई बलराम के साथ मथुरा को प्रस्थान करते हैं। कथा के दौरान कथा व्यास द्वारा बीच-बीच में सुनाए गए भजन पर श्रोता भाव विभोर हो गए। कथा व्यास ने बताया कि भागवत कथा विचार, वैराग्य, ज्ञान और हरि से मिलने का मागर् बता देती है। कलयुग की महिमा का वणर्न करते हुए कहा कि कलयुग में मनुष्य को पुण्य तो सिद्ध होते हैं। परंतु मानस पाप नहीं होते। कलयुग में हरी नाम से ही जीव का कल्याण हो जाता है। कलयुग में ईश्वर का नाम ही काफी है सच्चे हृदय से हरि नाम के सुमिरन मात्र से कल्याण संभव है। इसके लिए कठिन तपस्या और यज्ञ आदि करने की आवश्यकता नहीं है। जबकि सतयुग, द्वापर और त्रेता युग में ऐसा नहीं था। श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन स्वगीर्य शांति देवी की स्मृति पर कथा आयोजक राम स्वयंवर मिश्रा करा रहे हैं। इस मौके पर भागवत श्रोता राम नरेश मिश्रा, रमाकांत मिश्रा, श्याम लाल द्विवेदी, भोले राम शुक्ला, कृष्ण कुमार मिश्रा, मुन्ना त्रिपाठी, अरुण कुमार त्रिपाठी, बाबूलाल पांडे, जितेंद्र कुमार सोनी आदि मौजूद रहे।

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक