ऋग्वेद है भौतिकी के आधुनिक सिद्धांतों का आधार- डाॅ सुरेन्द्र – गोष्ठी में बताए वेदों का महत्व

0
59

ऋग्वेद है भौतिकी के आधुनिक सिद्धांतों का आधार- डाॅ सुरेन्द्र
– गोष्ठी में बताए वेदों का महत्व

चित्रकूट ब्यूरो: आयुषग्राम में रविवार को वेद विषयक गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी का विषय आयुवेर्द का आधार वेद था। इस मौके पर फरुर्खाबाद के डा. सुरेंद्र सिंह ने कहा कि नेत्ररोगों से संबंधित पाश्चात्य देशों के मानक व आधुनिक भौतिकी के सिद्धांत ऋग्वेद से लिए गए हैं।
गोष्ठी की अध्यक्षता आयुषग्राम चित्रकूट के संस्थापक एवं पूवर् उपाध्यक्ष  भारतीय चिकित्सा परिषद डॉ. मदन गोपाल वाजपेयी ने की। डॉ. सुरेंद्र ने कहा कि ऋग्वेद के पांच मंत्रों में पूरे नेत्र विज्ञान और ज्योतिष विज्ञान का सूक्ष्म एवं वैज्ञानिक वणर्न किया गया है। इनसे आंखों की संरचना और प्रकाश के रेटिना तक पहुंचने की विधि का स्पष्ट रूप से पता चलता है। इसके साथ साथ ज्योतिष विज्ञान,  जो प्रकाश के सिद्धांतों पर आधारित है, का भी सचित्र वणर्न किया गया है। डॉ. मदन गोपाल वाजपेयी ने कहा कि वेद सवर्प्राचीन साहित्य हैं, ये विश्व के आदिग्रंथ हैं। विश्व के समस्त ज्ञान का मूल स्रोत वेद ही हैं। आयुवेर्द का मूल स्रोत भी ऋग्वेद ही है। प्राचीन आयुवेर्द ऋषि वैज्ञानिकों ने वैदिक मंत्रों पर शोध कर,  उनका प्रयोग करके ही विश्व के प्राचीनतम स्वास्थ्य विज्ञान आयुवेर्द की रचना की थी। इस अवसर पर डॉ. अचर्ना वाजपेयी, डॉ. वेद प्रताप वाजपेयी, आलोक कुमार, राहुल कुमार, स्नेहा, शालू सचान आदि मौजूद रहे।
—————

#बुन्देलखण्ड_दस्तक #आन्या_एक्सप्रेस
#चित्रकूट #जालौन   #ताजा_खबरें #न्यूज_उपडेट #उरई #झांसी #कानपुर #महोबा #हमीरपुर #डैली_उपडेट #ताजा_खबर #bundelkhandnews #bundelkhanddastak #बुंदेलखंडदस्तक
#जिलाधिकारीजालौन #जिलाअधिकारीचित्रकूट
#dmjalaun #dmchitrkut