विकास खण्ड महेवा के संचालित 17 आंगनबाड़ी केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया गया।

0
59

विकास खण्ड महेवा के संचालित 17 आंगनबाड़ी केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया गया।

उरई (जालौन)जिला कार्यक्रम अधिकारी इफ्तेखार अहमद द्वारा ग्राम औंता एवं ककहरा विकास खण्ड डकोर तथा ग्राम मुसमरिया, चुर्खी एवं न्यामतपुर विकास खण्ड महेवा के संचालित 17 आंगनबाड़ी केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान केन्द्र पर अनुपस्थित 04 आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों एवं 07 आंगनबाड़ी सहायिकाओं का मानदेय रोका गया। निरीक्षण के दौरान सभी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों/ सहायिकाओं को निर्देशित किया गया कि आंगनबाड़ी केन्द्र पर विभागीय ड्रेस में उपस्थित होकर नियमानुसार केन्द्र का संचालन करें तथा विभागीय योजनाओं का लाभ सभी पात्र लाभार्थियों को दिया जाये। केन्द्रों पर बच्चों की उपस्थिति कम होने के संबंध में निर्देशित किया गया कि 03 से 06 वर्ष आयु के पंजीकृत सभी बच्चों को प्रतिदिन केन्द्र पर उपस्थित होने हेतु आवश्यक गतिविधियां आयोजित करायी जाये। भविष्य में यदि केन्द्र पर बच्चों की संख्या/उपस्थिति में सुधार नहीं होता है तो सम्बन्धित के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। इसके साथ ही बाल विकास परियोजना अधिकारी डकोर एवं महेवा को सचेत किया गया कि समस्त आंगनबाड़ी केन्द्रों का शासन/निदेशालय द्वारा निर्गत गतिविधि कैलेण्डर के अनुसार संचालन करायें तथा यह भी सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी आंगनबाड़ी कार्यकत्री व सहायिका बिना विभागीय ड्रेस के आंगनबाड़ी केन्द्र पर उपस्थित न मिले तथा किसी भी दशा में कोई भी आंगनबाड़ी केन्द्र बन्द नहीं रहें। लगातार केन्द्र पर अनुपस्थित रह रही कार्यकत्री की सेवा समाप्ति हेतु कार्यवाही अमल में लायें। किसी भी स्थिति में एक भवन में एक अथवा विशेष परिस्थितियों में दो केन्द्र से अधिक का संचालन न कराया जाये। सर्वे के अनुसार ही केन्द्रों का संचालन शासकीय भवनों में कराया जाये। क्षेत्रीय मुख्य सेविकाओं को अन्तिम चेतावनी दी गयी है।

बुन्देलखण्ड दस्तकDM JalaunJalaun Police