रानी लक्ष्मीबाई सभागार में जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक समस्त धर्म गुरुओं के साथ आयोजित की गई।

0
90

रानी लक्ष्मीबाई सभागार में जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक समस्त धर्म गुरुओं के साथ आयोजित की गई।

उरई (जालौन)जिलाधिकारी चाँदनी सिंह व पुलिस अधीक्षक ईरज राजा की अध्यक्षता में ईद उल फितर त्यौहार को शांतिपूर्ण व सौहार्दपूर्ण माहौल में मनाये जाने हेतु विकास भवन के रानी लक्ष्मीबाई सभागार में जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक समस्त धर्म गुरुओं के साथ आयोजित की गई। जिलाधिकारी ने कहा कि ईद उल फितर 22 अप्रैल को त्यौहार शांतिपूर्ण वातावरण में मनाएं, इसके लिए जिला प्रशासन की सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त रहेगी, मस्जिद ईदगाह के आसपास साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाएगी साथ ही विद्युत आपूर्ति भी सुनिश्चित कराई जाएगी ताकि किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो सके। विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि अपने अपने क्षेत्र में गहन निरीक्षण कर जर्जर तार, खराब ट्रांसफार्मर का सर्वे कर लिया जाए जहां पर समस्या हो उसका तत्काल समाधान किया जाए जिससे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित रहे। उन्होंने कहा कि ईद उल फितर त्यौहार को पूरे सतर्कता एवं सजगता के साथ आपसी भाईचारे एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाते रहे है और आगामी त्यौहार को भी भाईचारे के साथ मनाया जाएगा यह मुझे विश्वास है। विभिन्न थानों से आए धर्मगुरुओं ने जिला प्रशासन को आश्वस्त किया कि इस त्योहार को हर्षोल्लास के साथ गंगा जमुनी तहजीब को ध्यान में रखते हुए मनाया जाएगा। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि त्योहार के दौरान सुरक्षा के लिए बेहतर प्रबंध किए गए जनपद को 6 जोन व 12 सेक्टर में बांटा गया है जिसमें सभी ईदगाहों व मस्जिदों में जहां अलविदा ईद की नमाज होगी वहां पुलिसकर्मी मुस्तैद रहेंगे। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर माहौल खराब करने वाले असामाजिक तत्वों पर पूर्ण निगरानी रहेगी कोई भी व्यक्ति मैसेज को फॉरवर्ड न करें इसकी सूचना तत्काल सीधे उपलब्ध कराई जाए ताकि व्यवधान डालने वालों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही अमल में लायी जाए सके।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व पूनम निगम, अपर पुलिस अधीक्षक असीम चौधरी, नगर मजिस्ट्रेट रामप्रकाश, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नरेंद्र देव शर्मा आदि सहित अधिकारी व समस्त धर्मगुरु मौजूद रहे।