जिलाधिकारी चाँदनी सिंह, पुलिस अधीक्षक ईरज राजा ने कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

0
47

जिलाधिकारी चाँदनी सिंह, पुलिस अधीक्षक ईरज राजा ने अवर अभियन्ता व अधिशाषी अभियन्ता विद्युत के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।


उरई (जालौन) दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लि0 के प्रबन्ध निदेशक अमित किशोर, जिलाधिकारी चाँदनी सिंह, पुलिस अधीक्षक ईरज राजा ने अवर अभियन्ता व अधिशाषी अभियन्ता विद्युत के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लि0 के प्रबन्ध निदेशक अमित किशोर ने विद्युत विभाग से संबंधित विभिन्न बिन्दुओं जैसे कि विद्युत आपूर्ति में आ रही कठिनाईयों को दूर करने हेतु भारत सरकार की रिवेम्प योजना के तहत कार्यवाही करने एवं आबादी के अनुसार हर घरों में कनेक्शन न होने के कारण जीवन स्तर में सुधार करने हेतु घर-घर कनेक्शन किये जाने की कार्ययोजना की विस्तृत समीक्षा की गयी। उन्होने विद्युत विभाग के अधिकारियों एवं अभियन्ताओं को निर्देशित किया कि जनपद में आवासित परिवारों का स्वयं सहायता समूहों, विद्युत सखी, पंचायत सहायकों आदि के माध्यम से ग्राम पंचायतवार सर्वे कराया जायेगा जिससे आवासित परिवारों द्वारा किये जा रहे विद्युत उपयोग का प्रकार अथवा विद्युत उपयोग न कर रहे परिवारों का डाटा संग्रह करके जो परिवार विद्युत का उपयोग वैधानिक तरीके से नही कर रहे है उन्हे प्रेरित करकेे विद्युत कनेक्शन दिया जाये। स्वयं सहायता समूहों, विद्युत सखी, पंचायत सहायकों आदि के द्वारा विद्युत कनेक्शन कराये जाने पर प्रोत्साहित राशि रू0 100/- प्रति कनेक्शन दिया जायेगा। यह धनराशि कनेक्शन होने के उपरान्त तत्काल अधिशाषी अभियन्ता द्वारा निर्गत की जायेगी एवं हर घर कनेक्शन दिये जाने से न केवल विद्युत चोरी पर विराम होगा अपितु यह आवासीय परिवारों के जीवन स्तर पर सुधार लायेगा। इस सर्वे के दौरान किसी प्रकार की अनियमित्ता पाये जाने पर दण्डात्मक कार्यवाही न करते हुये विद्युत करनेक्शन प्रदान किया जायेगा तथा जिन परिवारों पर पहले से विद्युत चोरी की एफआईआर दर्ज है तथा उनके ऊपर राजस्व निर्धारित हो चुके है उन्हे भी एक मात्र घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर करके विराम प्रदान कर दिया जायेगा। उपरोक्त सभी कनेक्शन आॅनलाइन माध्यम से विद्युत विभाग के झटपट पोर्टल से कराये जायेगे एवं सभी विद्युत विभाग के अधिकारी इस पर तत्काल कार्यवाही करते हुये न्यूनतम समय में कनेक्शन जारी करेगे। विद्युत चोरी में विराम लगाये जाने हेतु उक्त के अतिरिक्त रिवेम्प योजना में लाईनहानियों को कम करने के लिए भारत सरकार द्वारा करोड़ो रूपये स्वीकृत हो चुके है जिस पर त्वरित गति से धरातल पर कार्य प्रारम्भ हो गया हैं। उन्होने महिला सशक्तिकरण की दिशा में कार्य करते हुये जनपद के जालौन विकास खण्ड में समस्त मीटर रीडिंग में संबंधित कार्य को विद्युत सखियों एवं स्वयं सहायता समूह की महिलाओं द्वारा कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होने विद्युत विभाग द्वारा जारी आरसी की वसूली हेतु प्रभावी कार्यवाही करते हुये तहसीलदारों एवं संबंधित को निर्देशित किया। उन्होने विद्युत विभाग के समस्त अधिकारियों को कड़े निर्देश दिये कि जनप्रतिनिधि, अधिकारी व आम नागरिकों द्वारा फोन किया जाता है लेकिन आप द्वारा फोन रिसीव नही किया जाता है आप अपनी कार्यप्रणाली में सुधार लाते हुये सभी लोगो का फोन रिसीव अवश्य करें, शिकायतों का त्वरित समाधान किया जाये। उन्होने एई स्टोर व अधिशाषी अभियन्ता विद्युत प्रथम को कार्य में लापरवाही बरतने पर स्पष्टीकरण मांगा। उन्होने कहा कि जनपद के स्टोर रूमों में सामान की पर्याप्त उपलब्धता है, आम नागरिको को अनावश्यक परेशान न किया जाये सरलतापूर्वक स्टोर रूम से सामान उपलब्ध कराया जाये इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये। उन्होने कहा कि ट्रांसफार्मर खराब होने की सूचना मिलते ही शहरी क्षेत्र में 24 घण्टे व ग्रामीण क्षेत्र में 48 घण्टें बदलने का प्रावधान हैं आपको निर्देशित किया जाता है कि जनपद में ट्रांसफार्मर की उपलब्धता पर्याप्त है शहर में 02 से 03 घण्टे के अन्तराल में ट्रांसफार्मर बदलना सुनिश्चित करेगे। उन्होने मोटोकारला ऐजेन्सी को निर्देशित करते हुये कहा कि जनपद में जर्जर तार व पोल का गुणवत्ता से कार्य किया जाये, गुणवत्ता से किसी भी प्रकार का समझौता नही किया जायेगा, आप द्वारा कराये जा रहे कार्य अगर बरती गयी लापरवाही तो एफआईआर भी आपके विरूद्ध की जायेगी साथ ही आपको ब्लैक लिस्टिड भी किया जायेगा।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा0 अभय कुमार श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी(वि0/रा0) पूनम निगम, निदेशक टेक्नीकल बी0एम0 शर्मा, अधीक्षण अभियन्ता(कामर्शियल) रामप्रकाश गुप्ता, विद्युत विभाग के आदि अधिकारी मौजूद रहे।